Monday, June 22, 2009

बेतरतीब ख्वाब

आप यकीं नहीं करेंगें
मगर यह सब सच है.

शाहरुख़ से यह मेरी दूसरी मुलाकात थी
काफी बातें हुईं
इधर उधर की
काफ़ी की चुस्कियां लेते लेते
एक दिन पहले ही
आमिर और सैफ
मेरे घर आये थे
कारन और अजय के घर
मैं खुद हो आया था
अजय ने न्यासा को
मेरी बाहों में थमा दिया था
इतनी नाज़ुक और प्यारी थी कि
उसे छूने से भी डर लग रहा था
मैंने उसके गालों को
हलके से चूम लिया
और वो चुमते ही सो गयी
घंटों सीने से चिपकाये
मैं गुनगुनाता रहा


माधुरी के साथ मैंने
Accountancy की classes ली है
मनीषा और जूही के साथ
कई बार
सैर सपाटे पर गया हूँ
गोविंदा से धक्का मुक्की हो चुकी है
जाने किस बात पर.
भंसाली से कई मुद्दों पर बहस हो चुकी है
सुन्नी देओल ने एक बार
मेरी जान बचायी थी
एक काले नाग को मार कर
कितनी फिल्में बना चूका हूँ अब तक
अब तो पूरा बॉलीवुड जानने लगा है मुझे


अनिल और मुकेश ने तो पूरी कोशिश कि थी
मेरी जान लेने कि
दरअसल अनिल को लगा था मैं
मुकेश का आदमी हूँ
और मुकेश को लगा मैं अनिल का हूँ

एक दफा जेल भी जा चूका हूँ
घोटाले का मामला था
छ लाख गबन हुए थे
चार रबिन्द्रनाथ
बाकी मेरे हाथ आये थे
कसूर दरअसल
टैगोर साहेब का ही था
मैं तो अनायास ही
मदद करने चला गया था.

आप भी जान लीजिये
क्या क्या गूल खिलाये हैं मैंने
सपनों में कुछ भी कर लेने की
बड़ी सहूलियत होती है.

6 comments:

  1. Good Effort.Best Wishes.
    Lots of Love
    Avatar Meher Baba Ji Ki Jai
    avtarmerherbaba.blogspot.com
    lifemazedar.blogspot.com

    ReplyDelete
  2. बहुत dilchasp swapn हैं आपके.............. क्या kahne janaab

    ReplyDelete
  3. sapana hura ho,yahi aashirvad hai. narayan narayan

    ReplyDelete
  4. हे प्रभु,
    किस थिंकर से पाला पडा है...

    अच्छे मुंगेरीलाल के हसीं सपने...

    शुभकामनाएं...

    ReplyDelete
  5. बहुत सुंदर…..आपके इस सुंदर से चिटठे के साथ आपका ब्‍लाग जगत में स्‍वागत है…..आशा है , आप अपनी प्रतिभा से हिन्‍दी चिटठा जगत को समृद्ध करने और हिन्‍दी पाठको को ज्ञान बांटने के साथ साथ खुद भी सफलता प्राप्‍त करेंगे …..हमारी शुभकामनाएं आपके साथ हैं।

    ReplyDelete
  6. शुक्रिया दोस्तों. आपकी शुभ कामनाओं के लिए. मगर इतना जरूर कहना चाहता हूँ की यह सब सच है. यह मात्र कल्पना नहीं है अपितु मैंने यह सब सपने में जिया है. वो क्या है कि कभी कभी सपने ज़िन्दगी से ज्यादा खुशगवार लगते हैं.
    आप सबके स्नेह का आकांक्षी

    ReplyDelete